swayam sahayata samuh job 2021|up सरकार देगी गांव में बड़े रोजगार के अवसर। BC sakhi yojana

 उत्तर प्रदेश में राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत चल रहे swayam sahayata samuh को रोजगार के बड़े अवसर देगी उत्तर प्रदेश योगी सरकार


Lucknow - उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने कल वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए उत्तर प्रदेश में राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत राशन वितरण कर रहे 97663 स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को 446 करोड रुपए धन राशि वितरण की है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने स्वयं सहायता समूह में कार्य कर रही महिलाओं की प्रशंसा करते हुए यह भी कहा है कि स्वयं सहायता समूह ग्रामीण विकास के लिए अति आवश्यक हैं। स्वयं सहायता समूह ने ग्रामीण विकास में जो योगदान दिया है वह सराहनीय है। मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने स्वयं सहायता समूह में कार्य कर रही महिलाओं को अन्य जिम्मेदारियां भी सौंपी हैं जो कुछ इस प्रकार हैं।

Manrega yojana में स्वयं सहायता समूह की महिलाएं काम करेंगी।

मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा है कि उत्तर प्रदेश की स्वयं सहायता समूह की महिलाएं मनरेगा के तहत काम करने की इच्छुक हैं। मनरेगा के तहत स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को गांव के विकास की जिम्मेदारी सौंपी जाएगी जिसमें सड़क तालाब निर्माण आदि के कार्य की देखरेख और वित्तीय कार्यों को महिलाओं को सौंपा जाएगा।

BC sakhi yojana के तहत वित्तीय लेनदेन करेंगे स्वयं सहायता समूह की महिलाएं।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने यह भी कहा है कि स्वयं सहायता समूह की महिलाएं बीसी सखी योजना के तहत मेरे क्षेत्र में बैंक काफी दूरी पर होने के कारण वित्तीय लेनदेन की सभी कार्य महिलाओं द्वारा किया जाएगा। जिसके लिए प्रदेश सरकार ने महिलाओं को एक लैपटॉप और कुछ धनराशि सहायता के रूप में दी है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा है कि इस योजना को जारी रखने के लिए लगातार महिलाओं को लैपटॉप और वित्तीय सहायता दी जाएगी।

सरकारी राशन की दुकान की जिम्मेदारी स्वयं सहायता समूह को सौंपी जाएगी।

मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने ग्रामीण क्षेत्र के स्वयं सहायता समूह के योगदान को देखते हुए यह निर्णय लिया है कि जो सरकारी राशन की दुकान अनियमितता के लिए निरस्त की गई है। उनकी जिम्मेदारी स्वयं सहायता समूह को दी जाएगी। स्वयं सहायता समूह की महिलाएं सरकारी राशन कार्ड वितरण करेंगे सरकारी राशन का कोटा उन्हें दिया जाएगा। यदि किसी ग्रामीण क्षेत्र में अनियमितता के कारण सरकारी राशन की दुकान निरस्त कर दी गई है। तो उसकी जिम्मेदारी राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत चल रहे स्वयं सहायता समूह को दी जाएगी।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां