swayam sahayata samuh se loan kaise liya jata hai | स्वयं सहायता समूह से Loan लेने की पूरी जानकारी।

 भारत सरकार ने ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए राष्ट्रीय आजीविका मिशन के तहत Swayam sahayata samuh गठन की योजना प्रारंभ की। ग्रामीण क्षेत्र की महिलाएं स्वयं सहायता समूह बना कर अपने दैनिक जीवन में से समूह में खोले गए बैंक खाते में बचत के पैसे जमा कर सकती हैं। स्वयं सहायता समूह गठन के लिए सरकार अपनी तरफ से महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए ऋण प्रदान करती है। स्वयं सहायता समूह के तहत मिलने वाले ऋण पर महिलाओं को न्यूनतम दर पर ब्याज देना होता है। आइए जानते हैं स्वयं सहायता समूह में आप किस प्रकार laon ले सकते हैं।  बैंक इस पर कितना ब्याज लगाती है? स्वयं सहायता समूह के तहत आपको कितने रुपए तक का लोन मिल सकता है।

Swayam sahayata samuh se loan
स्वयं सहायता समूह से कर्ज कैसे लें?

Swayam sahayata samuh से loan लेने की पात्रता।

राष्ट्रीय आजीविका मिशन के तहत चल रहे स्वयं सहायता समूह की महिलाएं यदि किसी काम के लिए कर्ज लेना चाहते हैं तो सरकार उनको न्यूनतम दर पर laon मुहैया कराती है। स्वयं सहायता समूह से बैंक के जरिए लोन प्राप्त होता है। स्वयं सहायता समूह की महिलाएं यदि बैंक से कर्ज लेना चाहते हैं तो उनके समूह को निम्नलिखित बिंदु को ध्यान में रखना होगा।
स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को बैंक उनके ग्रेडिंग के अनुसार कर्ज देता है। अपने स्वयं सहायता समूह की ग्रेडिंग किस प्रकार करते हैं? इसके लिए निम्न बिंदुओं का पालन करना जरूरी है।
  1. राष्ट्रीय आजीविका मिशन के तहत चल रहा स्वयं सहायता समूह 3 महीने से लेकर डेढ़ वर्ष पुराना होना चाहिए।
  2. स्वयं सहायता समूह की महिलाएं सप्ताह में निर्धारित दिन पर समूह की बैठक करती हो
  3. स्वयं सहायता समूह के पूरे रजिस्टर मे लेखा-जोखा पूर्ण तरीके से लिखा होना चाहिए।
  4. बैंक से किसी भी काम के लिए कर्ज लेते वक्त आपको उसकी पूरी रिपोर्ट बना कर रख लेनी चाहिए।
  5. स्वयं सहायता समूह की महिलाएं यदि बैंक से कर्ज लेना चाहते हैं तो समूहों के प्रत्येक महिला की सहमत होना आवश्यक है।

Swayam sahayata samuh से कितने प्रकार के loan  मिल सकते हैं?

राष्ट्रीय आजीविका मिशन के तहत चल रहे स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को उनकी ग्रेडिंग के अनुसार ऋण प्रदान किया जाता है। आइए जानते हैं कि स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को कितने प्रकार के loan भारत सरकार द्वारा मुहैया कराए जाते हैं।

रिवाल्विंग निधि | loan 

इस लोन की धनराशि ₹12000 से लेकर ₹15000 तक होती है। यह loan आपको बैंक को वापस लौटाना नहीं होता है।  यह धनराशि आपको समूह के कार्य जैसे रजिस्टर खरीदना।
समूह के अन्य कार्यों के लिए।
 यह लोन आपको समूह निर्माण के 3 माह पश्चात् दिया जाता है।
यदि किसी कारण से आप अपना समूह बंद करते हैं तो यह लोन आपको चुकाना पड़ सकता है।

सामुदायिक निवेश नीति। loan

यह लोन समूह को प्राथमिक और छोटे स्तर पर किसी भी कार्य को करने के लिए दिया जाता है। यदि समूह की कोई महिला छोटे स्तर पर कोई कार्य करना चाहती है तो यह लोन उसे प्रदान किया जाता है।
इस लोन की धनराशि ₹50000 होती है।

disaster fund आपदा फंड लोन

 इस लोन की धनु राशि भी ₹50000 होती है। यह लोन समूह को प्राकृतिक आपदा जैसे किसी समूह की महिला के खेत में फसल अच्छी नहीं हुई। वह सूखे के कारण उसका कोई नुकसान हो गया हो  उसकी क्षतिपूर्ति के लिए यह लोन दिया जाता है।  समूह की महिला यदि किसी दुर्घटना से ग्रस्त होती है। अथवा कोई भयंकर बीमारी होने पर यदि उसके पास  आर्थिक स्थिति ऐसी नहीं है। कि वह अपना इलाज करवा सके। ऐसी स्थिति में यहां ऋण उसे प्रदान किया जाता।
यदि इसकी किस्त समूह समय-समय पर देता रहता है तो यह लोन बढ़कर ₹80000 हो जाता है। अर्थात अगली बार आपको यह ऋण ₹80000 तक मिल सकता है।

cash credit limit loan 

इस लोन सीमा एक लाख से 500000 तक होती है। यदि समूह की कोई महिला अपने समूह को आर्थिक दृष्टि से मजबूत बनाने के लिए कोई बड़ा कार्य करना चाहती है
जैसे लघु उद्योग  तब यह लोन समूह की प्राथमिक रूप से कार्य करने वाली महिला और अन्य महिलाओं की सहमति से दिया जाता।

 राष्ट्रीय आजीविका मिशन के तहत चल रहे स्वयं सहायता समूह की महिला यदि चारों में से किसी भी प्रकार के ऋण को लेना चाहते हैं। तो जिस बैंक में समूह के नाम से खाता खुला है। उसके बैंक मैनेजर से जाकर बात करें। एवं समूह से मिलने वाले loanमें पूरी जानकारी लें।


टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां