स्वयं सहायता समूह की लिस्ट up | उत्तर प्रदेश स्वयं सहायता समूह लिस्ट देखें।

 राष्ट्रीय आजीविका मिशन के तहत चल रहे स्वयं सहायता समूह उत्तर प्रदेश के किसी भी गांव की लिस्ट कैसे निकाली जाती है? आइए जानते हैं इस पोस्ट में। इसे भी पढ़ें -1 स्वयं सहायता समूह सदस्य कोड कैसेनिकालें  2.up में स्वयं सहायता समूह कैसे बनाएं यहां टच करें

स्वयं सहायता समूह CCL loan 65000 रुपए कैसे लिया जाता है यहां टच करें

उत्तर प्रदेश स्वयं सहायता समूह की लिस्ट देखने के लिए आप को नीचे दिए गए दिशा निर्देशों को ध्यान पूर्वक पढ़ें | नीचे आपको एक वीडियो भी मिलेगा जिसके जरिए आप पूरी जानकारी देख सकते हैं और आसानी से लिस्ट निकाल सकते हैं।

स्वयं सहायता समूह लिस्ट up
स्वयं सहायता समूह

उत्तर प्रदेश स्वयं सहायता समूह की लिस्ट ऑनलाइन मोबाइल पर कैसे निकाले?|स्वयं सहायता समूह की सूची

भारत सरकार के राष्ट्रीय आजीविका मिशन के तहत चल रहे स्वयं सहायता समूहों के अंतर्गत उत्तर प्रदेश मैं किस ग्राम में कितने स्वयं सहायता समूह चल रहे हैं और उसमें कितनी महिलाएं जुड़ी हुई हैं इन सब की डिटेल जानने के लिए आपको नीचे दिए गए वेबसाइट लिंक पर जाकर क्लिक करना होगा।
ऊपर दी गई लिंक को क्लिक करने के बाद निम्नलिखित दिशानिर्देशों का पालन करें।
  1. उत्तर प्रदेश स्वयं सहायता समूह की लिस्ट देखने के लिए सबसे पहले आपको अपना राज्य चुनना है जिसमें आपको उत्तर प्रदेश का चुनाव करना है।
  2. इसके बाद आपको अपना जिला चुनना है।
  3. जिला चुनने के बाद आपको अपना विकास क्षेत्र चुना है। जिसे हम ब्लॉक भी कहते हैं।
  4. ब्लॉक चुनने के बाद आपको संबंधित ब्लाक में आने वाले सभी ग्राम की लिस्ट मिल जाएगी।
  5. इसके बाद आपको अपना ग्राम चुन लेना है। ग्राम चुनने के बाद आपको सबमिट बटन पर क्लिक करना। जैसे ही आप सबमिट बटन पर क्लिक करते हैं आपके ग्राम में जितने भी स्वयं सहायता समूह चल रहे होंगे उनके नाम और उस में कितनी महिलाएं जुड़ी हुई हैं, सब की जानकारी सामने आ जाएगी।

स्वयं सहायता समूह क्या है?

भारत सरकार ने महिलाओं को शोषण और बेरोजगारी से निजात दिलाने के लिए राष्ट्रीय आजीविका मिशन योजना को पारित किया। इसके अंतर्गत ग्रामीण और शहरी क्षेत्र की महिलाएं स्वयं सहायता समूह बनाकर वित्तीय लेनदेन जैसे कार्यों को करती हैं। स्वयं सहायता समूह में महिलाएं साप्ताहिक बैठक के दौरान गृह कार्य से कुछ बचत करते हैं। और उस बचत को समूह के नाम से खोले गए खाते में जमा किया जाता है। इस पर भारत सरकार सामान्य बचत खाते के मुकाबले अधिक ब्याज देती है। इसके अलावा स्वयं सहायता समूह से किसी भी उद्यम को लगाने हेतु ऋण दिया जाता है। स्वयं सहायता समूह का उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्र में शराब और शोषण से मुक्ति पाने के लिए है
यदि किसी महिला का पति शराब पीता है और उस महिला के वित्तीय जरूरतों को पूरा नहीं करता है तो वह महिला स्वयं सहायता समूह से जुड़कर अपनी वित्तीय जरूरतों को पूरा कर सकती है।

स्वयं सहायता समूह से लाभ

भारत सरकार के राष्ट्रीय आजीविका मिशन के तहत चल रहे स्वयं सहायता समूह से कितना और कैसे लाभ मिलता है? इसको आप निम्नलिखित बिंदुओं से समझ सकते हैं।
  1. स्वयं सहायता समूह से जुड़ी महिलाएं अपनी वित्तीय जरूरतेंअपने ऊपर आत्मनिर्भर रहकर पूरा कर सकती हैं।
  2. स्वयं सहायता समूह से साप्ताहिक बचत के दौरान जमा किए गए धन पर भारत सरकार अधिक ब्याज देती है।
  3. स्वयं सहायता समूह से जुड़ी महिलाएं किसी भी कारोबार को लगाने के लिए आसानी से ऋण प्राप्त कर सकती हैं।
  4. स्वयं सहायता समूह से किसी भी लघु उद्योग के लिए ₹650000 तक का लोन loan न्यूनतम ब्याज दर पर लिया जा सकता है।

स्वयं सहायता समूह रजिस्ट्रेशन up। स्वयं सहायता समूह गठन उत्तर प्रदेश।

Uttar Pradesh के किसी भी ग्राम में स्वयं सहायता समूह का रजिस्ट्रेशन कराया जा सकता है। स्वयं सहायता समूह के गठन के लिए आपको अपने गांव या क्षेत्र की समूह सखी का पता करना होगा। राष्ट्रीय आजीविका मिशन की तरफ से नियुक्त की गई समूह सखी प्रत्येक ग्राम पंचायत या शहरी क्षेत्र के प्रत्येक वार्ड में समूह के गठन का कार्य करते हैं। इसके अलावा यदि आप स्वयं भी समूह गठन का कार्य करना चाहते हैं तो कर सकते हैं।Swayam sahayata samuh का गठन करने के लिए निम्नलिखित चरणों का अनुसरण कराना होगा।
1. स्वयं सहायता समूह गठन के लिए आपको गांव या शहरी क्षेत्र जहां भी आप रहती हैं, वहां पर आपको 12 महिलाओ को समूह में जुड़ने के लिए प्रेरित कराना होगा।
2. इसके बाद आपको अपने समूह का नाम रख लेना होगा जैसे, तुलसी प्रेरणा समूह, मां जानकी प्रेरणा समूह इत्यादि।
3. समूह का नाम रख लेने के बाद समूह की महिलाओं को सप्ताह के किसी एक दिन प्रत्येक सप्ताह एक बैठक करनी होगी।
4. बैठक की जानकारी एक रजिस्टर में नोट करनी होगी।
5. बैठक रजिस्टर में नोट करना होगा, समस्त हिसाब किताब जैसे कि बैठक में कितना धन जमा हुआ। समूह की महिलाओं ने बैठक के दौरान कौन सी नई जानकारी प्राप्त की इत्यादि।

Up swayam sahayata samuh registration. स्वयं सहायता समूह का रजिस्ट्रेशन up

ऊपर बताई गई समस्त प्रक्रिया को करने के बाद आपको अपने विकासखड (ब्लॉक) जाकर राष्ट्रीय आजीविका मिशन कार्यालय में संपर्क करना होगा। वहां जाकर आपको राष्ट्रीय आजीविका मिशन के ब्लॉक मिशन मैनेजर BMM से संपर्क करना होगा।
ब्लॉक मिशन मैनेजर से जाकर अपने समूह से जुड़ी सभी जानकारी देना होगा जैसे समूह का नाम समूह में कितनी महिलाएं शामिल हैं। इसके बाद ब्लॉक मिशन मैनेजर आपको एक समूह गठन के लिए एक पुस्तिका एवं कुछ फॉर्म देगा जिसे भरकर जमा करना होगा।
Swayam sahayata samuh गठन के लिए फॉर्म जमा करने के बाद आपको राष्ट्रीय आजीविका मिशन के अधिकारियों द्वारा बताई गई बैंक में समूह के नाम से खाता खुलवाना होगा।
खाता खुल जाने के बाद स्वयं सहायता समूह की बैठक में जमा किए गए धन को बैंक खाते में जमा करना होगा।
स्वयं सहायता समूह गठन के बाद आपको अपने समूह को ऑनलाइन चेक करना होगा कि हमारा समूह बना है या नहीं जब तक आपके समूह का नाम ऑनलाइन नहीं पता चल जाता है तब तक आपका समय गठन पूरा नहीं होगा।
आपका समूह गठन हुआ है या नहीं इसका पता लगाने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें और पूरी जानकारी भरें।
ऊपर दिए गए लिंक पर क्लिक करने के बाद आप राष्ट्रीय आजीविका मिशन की ऑफिशियल वेबसाइट पर चले जाएंगे जिसमें आपको अपना राज्य जिला विकासखंड ग्राम पंचायत का नाम भरकर समूह का पता लगा सकते हैं।


एक टिप्पणी भेजें

5 टिप्पणियाँ